कुलपति का संदेश

 कुलपति का संदेश

साल 2021 हम सभी के लिए बड़ी चुनौतियों से भरा रहा है। हम बड़े पैमाने पर व्यवधानों और कोविड -19 की घातक लहर की विभीषिका के कारण गहन पीड़ा से व्यथित रहे हैं। हमारे स्वास्थ्य कर्मियों के सभी सर्वोत्तम प्रयासों और कोविड प्रोटोकॉल के सख्त पालन के बावजूदहमने अपने कुछ मित्रों और परिवार के सदस्यों को खोया है। कुछ उन्नत देशों के अनुभवों ने साबित कर दिया कि इस वायरस से छुटकारा पाने का सबसे प्रभावी साधन टीकाकरण है। इसलिए, मैं अपने सभी संकायों, अधिकारियों, गैर-शैक्षणिक कर्मचारियों और उनके परिवार के सदस्यों, छात्र-छात्राओं एवं उनके मित्रों से टीकाकरण कराने का आग्रह करता हूं।

मैं इस अवसर पर महामारी के बावजूद शैक्षणिक कैलेंडर को नियमित करने की दिशा में सभी शिक्षकों, अधिकारियों, गैर-शैक्षणिक कर्मचारियों, छात्र-छात्राओं और अभिभावकों के व्यक्तिगत और सामूहिक प्रयासों की सराहना करना चाहता हूँ। जैसा कि आप जानते हैं, हम राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के कार्यान्वयन की तैयारी कर रहे हैं क्योंकि हमारे विश्वविद्यालय ने 2022 के आगामी शैक्षणिक सत्र से राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुसार शिक्षण प्रारंभ करने का संकल्प लिया है। विश्वविद्यालय राष्ट्रीय प्रत्यायन एवं आश्वासन समिति(NAAC) पीयर टीम के निरीक्षण भ्रमण की भी तैयारी कर रहा है। सभी सहभागियों के निरंतर सहयोग और समर्थन के साथहमें विश्वास है कि NAAC का भ्रमण हमारे लक्ष्यों को प्राप्त करने में उपयोगी होगा।

विश्वविद्यालय की ओर सेइस आशा के साथ कि आने वाला वर्ष हमें एक विश्वविद्यालय के रूप में हमारे लक्ष्यों के करीब लाये और हमें अपने जीवन के हर पहलू में प्रगति का अवसर दे, मैं आपको और आपके प्रियजनों कोएक समृद्ध नववर्ष 2022 की कामना करता हूं।

शुभकामना सहित,

प्रो. गंगा प्रसाद प्रसाईं
कुलपति
त्रिपुरा विश्वविद्यालय

 

कुल विजिटर्स की संख्या : 3473158

सर्वाधिकार सुरक्षित © त्रिपुरा विश्वविद्यालय

अंतिम अद्यतनीकरण : 18/05/2022 02:03:20

रूपांकन एवं विकास डाटाफ्लो सिस्टम